मेरा मूड ठीक करो|मूड फ्रैश कैसे करें?

सितंबर 20, 2021

मेरा मूड ठीक करो|मूड ठीक करने के लिए क्या करे?

आज की दुनिया में हर एक इंसान का जीवन भागदौड़ से भरा हुआ हैं।हर कोई किसी न किसी कार्य में व्यस्त है।किसी के पास भी किसी के लिए समय नहीं है।सबको अपने जीवन,कार्य और अन्य चीजों की tension है। ऐसी भागदौड़ से भरी जिंदगी में हर इंसान का मूड खराब हो ही जाता हैं।अक्सर हम ज्यादातर लोगों से सुनते है की मेरा मूड खराब है,मेरे मूड ठीक करो,मूड फ्रैश कैसे करे?

किसी का ऑफिस में काम करके मूड ऑफ होता हैं,किसी का घर के कामों की वजह से मूड ऑफ होता है,किसी का लड़ाई झगडे से मूड ऑफ होता हैं।मूड ऑफ होने के कई कारण हो सकते है।मेरा मूड ठीक करो अक्सर मैं भी अपने दोस्तों या घर पर बोलता हूं। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए मैंने आपके लिए यह आर्टिकल लिखा है जिससे की आपको ‘मेरा मूड ठीक करो’ सवाल का जवाब मिल जायेगा।

.गांव में पैसे कैसे कमाएं?

.ऑनलाइन बिजनेस के फायदे क्या है?

.स्टेशनरी शॉप कैसे खोलें?

.कंटेंट राइटर कैसे बनें?

मूड फ्रैश कैसे करें” यह जानने के लिए यह आर्टिकल लिखा गया है इसलिए इस लेख को आखिर तक पढ़ना ताकि आपके मन में आने वाले सभी सवालों के मिल जाए।आज के इस आर्टिकल में आपको जानने के लिए मिलेगा की मूड ठीक कैसे करें?मूड ठीक करने के लिए क्या करना चाहिए?चलिए फिर “मेरा मूड ठीक करो”के संबद्ध में जानते है की मूड ठीक कैसे करें?

मेरा मूड ठीक करो|मूड फ्रैश कैसे करें?

मेरा मूड ठीक करो (mera mood theek karo) या मूड फ्रैश कैसे करे के विषय में आपको कुछ जरूरी points बताने जा रहा हूं।यदि आप मेरे द्वारा बनाए गए सभी points या इनमे से किसी को भी फॉलो करोगे तो अपने माइंड को आसनी से शांत और कंट्रोल कर पाओगे।

मेरा मूड ठीक करो
मेरा मूड ठीक करो

1.मेडिटेशन करके मूड फ्रैश कैसे करें?

बात करते है मूड फ्रैश करने के लिए सबसे पहले तरीके की।जो भी लोग यह कहते है की ‘मेरा मूड ठीक करो’ उनको मेरी पहली सलाह यह है की आप अपना मूड फ्रैश करने के लिए मेडिटेशन का सहारा ले सकते हो।मेडिटेशन टेंशन,तनाव,गुस्सा और डिप्रेशन आदि जैसे कई सारे चीजों से छुटकारा पाने में मदद करता हैं।

मूड फ्रैश करने के लिए मेडिटेशन से अच्छा जरिया कोई और हो ही नही सकता है।आप वाकई में चाहतें है की आपका फ्रैश रहे तो आपको रोजाना शुभ और शाम 10 से 15 min के लिए मेडिटेशन जरूर करना चाहिए।मेडिटेशन के लिए आपको एक शांत वातावरण ही चुनना चाहिए।

शांत वातावरण में आपको ज्यादा फायदा मिलेगा।खुली हवा में बैठ कर मेडिटेशन करने से आपका मूड बिलकुल फ्रैश रहेगा। इसके साथ आपको नींद भी अच्छी आयेगी और आपके दिमाग में सकारात्मक विचार ही आएंगे।इसलिए खराब मूड को ठीक करने के लिए मेडिटेशन जरूर करें।

2.गाने सुनकर मूड फ्रैश कैसे करें?

खराब मूड तो ठीक करने के लिए अगला तरीका है गाने सुनना।जी हां आपने बिलकुल सही पढ़ा हैं।जिस भी तरह का हम गाना सुनते हैं उसकी तरह से हमारा दिमाग सोचता है उसी तरह के विचार हमारे दिमाग में आते है।जब भी आपका मूड खराब हो या फिर आपको गुस्सा आए तो आप अपने मनपसंद गाने सुने।

गानों में लिखी गई लाइंस आपके माइंड को काफी हद तक प्रभावित करता हैं।आपका दिमाग songs के according Activity करता हैं।इसके साथ आप जब आपका मूड खराब हो तो आप sad songs नहीं सुनने है इससे आपका मूड और ज्यादा sad हो सकता हैं।

आपको ऐसे गाने सुनने है जिसे सुनकर आपको खुशी मिले। ऐसे कई सारे गाने है जिसको सुनने के बाद mind में positivity आती हैं।साथ ही आप भगवान से संबधित भजन और गाने सुन सकते हो।मेरा मूड ठीक करो ये कहने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी जब आप एक अच्छा song सुनोगे।

3.किताबें पढ़कर मूड कैसे फ्रैश करें?

किताबों का इंसान के जीवन में काफी ज्यादा महत्व हैं।अपने मूड को फ्रैश करने के लिए किताबें आपका मार्गदर्शन करेगा।जैसा की  आप जानते है की एक अच्छी किताब एक अच्छे  मित्र के समान होता हैं।किताबें पढ़ने के द्वारा हम बोहोत कुछ सीखते है और धीरे–धीरे उन चीजों को अपने जीवन में भी अपनाते है।

जब कभी आपका मूड खराब होता तो फिर आपको एक अच्छी सी किताब जरूर पढ़नी चाहिए।किताबे कई तरह की हो सकती है।कुछ किताबों से आपको मोविटेवेशन मिलता हैं,कुछ किताबों से हैप्पीनेस मिलती है कुछ किताबों से आपके मन में सकारात्मक विचार आते है।सही किताब आपको जीवन से जुड़ी बोहोत जारी चीजे सिखाता हैं।

मेरा मूड ठीक करो यदि आपको कोई कहे तो आप उसे यह सलाह जरूर दे की वो किताबे पढ़ें।जैसे की रिच डैड पूअर डैड,अग्नि की उड़ान,जीत आपकी आदि जैसी कई सारी किताबें है जिनको पढ़ने के बाद आपका मूड तो फ्रैश होगा ही साथ ही साथ आपको बोहोत कुछ सीखने को मिलेगा।आपको रोजाना कम से कम एक किताब की 10 से 15 पन्ने तो जरुर पढ़ना चाहिए।जो कुछ आप एक किताब से सीखोगे वो आपको कोई और नहीं सिखाएगा।

4.दोस्तों के समय बिता कर मूड फ्रैश कैसे करें?

दोस्तों के जीवन में एक किताब की तरह ही अहम रोल होता हैं। ऐसी कई सारी चीजे होती हैं जो हम अपने माता पिता के साथ शेयर नही कर पाते है लेकिन एक दोस्त के साथ शेयर जरूर करते हैं।जब कभी भी आपका मूड ऑफ हो या मूड काफी ज्यादा खराब हो तो खराब मूड को ठीक करने के लिए अपने दोस्तो के साथ थोड़ा समय जरूर बिताए।

दोस्तों के साथ बात करने से,उनसे अपनी दिल की बाते शेयर करने से और उनके साथ कुछ समय बिताने से आपको काफी अच्छा माहौल मिलेगा और अच्छा भी महसूस होगा।और यदि आपके दोस्त मजाकिया अंदाज के है तो आपको तो और ज्यादा आसानी होगी अपना मूड ठीक करने के लिए।इसके बाद तो आपको “मेरा मूड ठीक करो” ये बोलने की जरूर ही नही पड़ने वाली।

5.नेगेटिव बातों से दूर रहकर कैसे मूड फ्रैश करें?

हमारे साथ रोजाना बोहोत सारी चीजें घटती हैं। उनमें से कुछ चीजें अच्छी और कुछ चीजें बुरी भी होती हैं।अच्छी चीज से तो हमे खुशी मिलती है लेकिन वही बुरी चीजें या फिर नेगेटिव चीजे हमारे दिमाग में बोहोत सी गलत बाते भर देती हैं।ज्यादातर मूड खराब होने का कारण नेगेटिव बाते ही होती हैं।

जब हम नेगेटिव बाते करते है या फिर नेगेटिव चीजे सोचते है तो हमारा माइंड काफी ज्यादा disturb होता हैं और हमारा मूड भी खराब हो जाता हैं।नेगेटिव बातों से हमारे निजी जीवन पर काफी ज्यादा प्रभाव पड़ता है।जैसे ही कुछ भी नेगेटिव विचार दिमाग में आता है तो हम पूरा दिन उन्हीं बातों को सोचते रहते हैं।

इसलिए जब भी आपका मूड खराब हो या फिर ऐसी नकारामक बाते जिससे की आपका मूड खराब हो सकता है उन बातों को अपने mind में आने न दे।और साथ ही ऐसी चीजे और ऐसी बाते जो की आपके काम की ही नहीं हैं उनसे खुद को दूर रखें। न ही किसी से कोई नकारात्मक बाते कहें न ही सुने।अपने खराब मूड को ठीक करने के यह एक अच्छा तरीका है।

6.योगा करके मूड फ्रैश कैसे करें?

मेरा मूड ठीक करो के विषय में आगे जानते है अगले तरीके का जो की आपको help करेगा अपना खराब मूड ठीक करने में।ये तरीका है योगा।जी हां दोस्तों अपने शरीर के साथ दिमाग को तंदोरस्त करने के लिए और खराब मूड को ठीक करने के लिए योगा एक अच्छा माध्यम हैं।प्राचीन काल से ही योगा को लोगों के द्वारा अपनाया जा रहा हैं।

यदि आप रोजाना सुबह और शाम 25 से 30 min तक योगा करते हो तो आपके शरीर में काफी ज्यादा बदलाव आयेगा और साथ ही मानसिक तनाव भी दूर होगा।यदि आपका मूड खराब रहता है या फिर आपका मूड छोटी छोटी बातों से खराब हो जाता है तो आपको योगा करना शुरू कर देना चाहिए।

जो भी व्यक्ति योगा करता है वह शारीरिक और मानसिक दोनों ही रूप से स्वस्थ रहता हैं।योगा के द्वारा हमारा मस्तिष्क पॉजिटिव बातों को सोचता हैं और रिफ्रेश होता हैं।मूड को ठीक करने का यह भी एक फायदेमंद जरिया हैं।इस तरीके को जरूर अपनाएं।

7.शांत रहकर मूड कैसे ठीक करें?

अगला मूड ठीक करने का तरीका है खुद को शांत रखना यानी की अपने गुस्से को control में रखना।जब भी आप शांत दिमाग से कुछ भी काम करते हो तो सभी काम बीन  किसी टेंशन के सही तरीके से होता हैं।हमारे आधे से ज्यादा कमा ठीक से इसलिए नहीं हो पाते है क्योंकि हम गुस्से में होते या फिर टेंशन में रहते हैं।जबकि हमे शांत रहना चाहिए।

यदि कोई भी आपसे ऊंची आवाज में बात करता है या फिर लड़ाई झगडे करता हैं तो आपको शांत रहना है।अपने गुस्से को काबू में रखना है।यदि आप भी उसी तरह से बरताव करेंगे तो आपको और गुस्सा आएगा ऐसे में झगड़ा और ज्यादा बढ़ सकता है।इससे आपको ही परेशानी होगी।आपका मूड और ज्यादा खराब होगा।

बदले की भावना से कुछ भी करना कभी भी सही नहीं होता हैं।सही फैसला लेने के दिमाग का शांत होना जरूरी हैं।अगर कोई आपके ऊपर गुस्सा करता हैं या फिर आपको कुछ गलत बोलता है तो आपको उसकी बातों को इग्नोर करना हैं। ऐसा करने से सामने वाला खुद ही हर मान जायेगा।वो कहते है न “silence is the best answer” बस ऐसे ही आपको भी शांत रहना हैं। इस तरह आपका मूड ठीक हो जायेगा।

8.खुद को व्यस्त रखके मूड ठीक कैसे करें?

मेरा मूड ठीक करो या फिर मेरा मूड ठीक कर दो’ क्या आपके मन में भी यह आ रहा हैं।यदि ऐसा है तो आप इस तरीके को follow करके अपना मूड ठीक कर सकतें हो।खुद को किसी न किसी काम में व्यस्त रखना भी मूड ठीक करने का एक तरीका हैं।इंसान जब किसी न किसी काम में busy रहता है तो उसके मन में कभी भी कोई नेगेटिव विचार ही नहीं आते हैं।

उसका पूरा ध्यान अपने काम पर होता हैं।जितना ज्यादा आप खुद को busy रखोगे उतने ही ज्यादा chances हैं की आप गलत चीजों से दूर रहोगे।जब भी आप खाली बैठे होते है तो अनेक प्रकार के विचार दिमाग में आते है और ज्यादातर गलत बातें ही होती है।वो कहते है खाली दिमाग शैतान का घर बिलकुल यही होता।

और जब गलत विचार आते है तो दिमाग और मूड ही ज्यादा खराब होता हैं।इसलिए जरूरी है की खुद को किसी न किसी काम में व्यस्त रखो ताकि आपका मूड फ्रैश रहें और कोई भी गलत विचार आपके दिमाग न आए।यह तरीका काफी अच्छा है मूड ठीक करने के लिए

9.बुरी संगत से दूर रहकर कैसे मूड ठीक करें?

इंसान की सबसे बुरी आदत है की वह बुरी और गलत चीजों की तरफ बोहोत जल्दी आकर्षित होता है।उसी तरह बुरी संगत भी मूड खराब करने का एक जरिया है।बुरी संगत से न सिर्फ केवल मूड खराब होता है बल्कि इंसान गलत आदतों का शिकार भी होता है।

जिस प्रकार एक खराब फल अन्य फलों को भी खराब कर देता हैं उसी तरह बुरी संगत इंसान के जीवन को खराब कर देता है और उसे गलत राह पर चलने पर मजबूर कर देता है।इसलिए जरूरी है की खुद को बुरे संगत से दूर रखें।

यदि आप सच में चाहते हो की आपका मूड हमेशा फ्रैश रहे तो अपने आप को बुरी संगत से दूर रखें साथ ही उन दोस्तों का त्याग करे जो आपके जीवन को गलत राह पर लेकर जा रहे हैं।यह बोहोत ही अच्छा तरीका है खुद के मूड खराब होने से रोकने के लिए।

10.खेल कूद के जरिए मूड ठीक कैसे करें?

आज के बच्चे ज्यादातर अपना समय मोबाइल या टीवी के सामने व्यतीत करते है।दिन भर टीवी देखते है या फिर मोबाइल में गेम खेलते है या फिर सोशल नेटवर्किंग साइट्स का उपयोग करते है।टेक्नोलोजी भी काफी हद आपके मूड खराब करने में अहम भूमिका निभाती है।जब भी आप ज्यादा देर तक आप मोबाइल या अन्य स्मार्ट डिवाइस का उपयोग करोगे।

और कुछ देर के लिए उससे दूर रहोगे तो आप frustrate होने लगोगे।आपका ध्यान बार बार उसी तरफ जाएगा।इससे आपका मूड ठीक होने की बजाए और खराब होगा।यदि आप अपने mind को बिलकुल रिफ्रैश करना चाहते हो तो आपको बाहर खेल कूद करने जरूर जाना चाहिए।

जैसे की क्रिकेट,बैडमिंटन और फुटबॉल आदि।इससे न केवल आपका मूड ठीक होगा बाकी आपकी बॉडी के ताकत भी आयेगी।इसलिए अपना ध्यान टेक्नोलॉजी से हटा कर बाहर की एक्टिविटी में भी लगाना जरूरी है।यह काफी हद तक आपके मूड और आपके बॉडी को फ्रैश और शांत रखेगी।

11.भगवान का स्मरण करके मूड ठीक कैसे करें?

मूड को ठीक करने का सबसे अच्छा तरीका है भगवान का स्मरण करना।जब हम सच्चे मन से भगवान को याद करते हैं।भगवान को समर्पित गाने सुनते है तो हमारे मन में किसी भी प्रकार के विचार जगह नही लेते है।इसके साथ हमारा दिमाग भी शांत रहता हैं।भगवान को याद करने से दिमाग में पॉजिटिव एनर्जी आती है।इसलिए भगवान को जरूर याद करें।

Conclusion :–

“मेरा मूड ठीक करो” यह कहने की आपको कभी भी जरूर नही पड़ेगी यदि आप मेरे द्वारा बताए गए सभी तरीके को सही तरीके से फॉलो करते हो तो।इसके साथ आपको खुद भी ध्यान रखना होगा की आप फालतू की बातों से खुद को जितना हो सके दूर रखें।इसी के साथ आज के इस आर्टिकल में बस इतना ही।अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आए तो इसे दूसरे दोस्तों के साथ भी शेयर जरूर करना।

















You Might Also Like

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts